अच्छी फसल के लिए बलि

जादू-टोना कर मरवाने की धमकी से बचने 7 वर्षीया मासूम ललिता ताती की सिर्फ इसलिए बलि चढ़ा दी गई कि इससे फसल अच्छी होगी. यह खुलासा तब हुआ, जब इस बच्ची के लापता होने की जानकारी पुलिस को हुई और पूछताछ के बाद जिन दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया, तो उन्होंने बताया कि लाश कहां है. लाश क्षत-विक्षत अवस्था में थी और शरीर के सारे अंग गायब थे. इन आरोपियों ने तूरनार तालाब के पास स्थित मंदिर में ललिता ताती का कलेजा निकाल कर चढ़ाया था.
आज के युग में इस तरह की घटनाएं महं अंदर तक झकझोर देती है, पर अभी भी लुके-छिपे तौर पर यह सब हो रहा है और ना जाने कब तक होता रहेगा. अंधविश्वास और शिक्षा के अभाव में आपसी रंजीश को छिपाने किसी मासूम की बलि देना क्या जायज है?
छत्तीसगढ़ के बस्तर के बीजापुर में यह सनसनीखेज मामला सामने आया है. तूरनार निवासी इग्नेश कुजूर एवं जेलबाड़ा निवासी पदम सुक्कु का 4 माह पूर्व ललिता के पिता बुधराम के साथ शूकर के मांस को लेकर झगड़ा हुआ था. तभी से बदला लेने की योजना बनी और नरबलि देकर अच्छी फसल की उम्मीद की गई. एक पंथ दो काज के तहत पहले ललिता का अपहरण किया गया पश्चात इस बच्ची का गला घोंट कर हत्या कर दी गई. पूजा-अर्चना की गई और ललिता के मृत शरीर को क्षत-विक्षत कर उससे कलेजा निकाला गया और देवी को अर्पण कर दिया गया.

Advertisements

2 responses to “अच्छी फसल के लिए बलि”

  1. Khilesh says :

    यह क्या जमाना है । अगर अच्छी फ़सल चाईए तो ऍग्रीकल्चर मै पढाई करो । कभी कोई बली देके अच्छी फ़सल थोडी आती है । अच्छी फ़सल कै लिये मेहनत और दिमाग चाय़ीए ।

    बहोत अच्छा लेख लिखा है आपने । सॉरी मुझे आपका नाम पता नही ।

  2. parganiha says :

    मेरा नाम शशि परगनिहा है. में छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में निवास करती हूं.

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: